इंग्लिश कैसे सीखें? चाहे बोलना हो या पढ़ना या लिखना।

इंग्लिश कैसे सीखें? चाहे बोलना हो या पढ़ना या लिखना।

नमस्कार दोस्तों , अगर आप इस page पर आए हो तो इसका मतलब है की आप इंग्लिश सीखना चाहते हो पर आपको समझ नहीं आ रहा की इंग्लिश कैसे सीखें।

तो इसका उत्तर आपको जरूर इस page पर मिलेगा।

सबसे पहले , आप मेरे बारे में जान लीजिए। मैं भी आपकी तरह पहले यही सोचता था की इंग्लिश जल्दी से जल्दी कैसे सीखी जाए जिससे मुझे कहीं परीक्षा देने में या नौकरी करने में मुसीबत न आए।पर जल्दी में कुछ नहीं होता बस मेहनत करने से होता है।

मैं भी आपकी तरह एक हिन्दी भाषा का छात्र रहा हूँ। मुझे भी इंग्लिश सीखने में बड़ी परेशानी हुई पर मैंने ठान लिया था की सीखूंगा तो सीखूंगा चाहे कुछ भी हो जाए।

मैं यह post एक साधारण भाषा में लिखा है जिससे आपको भी पढ़ने में मजा आए और इसी मजे मजे में हम इंग्लिश सिखने का तरीका भी सीख जाएं।

मैं आपको किन्हीं औरों की तरह बड़े बड़े दावे तो नहीं कर सकता पर ये जरूर बता सकता हूँ की मैंने इंग्लिश कैसे सीखी और किन उपाय से सीखी।

अगर मैं सिख सकता हूँ , तो आप क्यों नहीं ?

मैं आपको सभी उपाय बताऊंगा चाहे online हो या offline.

तो चलिए कहानी बंद करते हैं और मुद्दे की बात करते हैं।

आप इस post में क्या सीखेंगे ?

  1. इंग्लिश भाषा की महत्वता।
  2. इंग्लिश पढ़ना कैसे सीखें ।
  3. इंग्लिश लिखना कैसे सीखें ।
  4. इंग्लिश बोलना कैसे सीखें ।
  5. इंटरनेट का use करके कैसे इंग्लिश सीखें।

1.इंग्लिश भाषा की महत्वता :

इंग्लिश भाषा एक महत्वपूर्ण भाषा है , यह दुनिया के विभिन्न देशों में बोली जाती है , हाँ यह जरूर है की सबसे ज्यादा तो नहीं बोली जाती पर जो भी महत्वपूर्ण काम होते हैं वह सब इंग्लिश भाषा में ही होते हैं। चाहे आप अपने देश में ही देख लीजिए यहाँ हिंदी और अन्य भाषाएँ तो बोली जाती हैं पर ज्यादातर काम इंग्लिश में ही होता है , जैसे की सरकारी काम , परीक्षा , कोर्ट में काम और अन्य बहुत से।

इंग्लिश भाषा कुछ हद तक अच्छी जगह नौकरी पाने में भी मदद करती है। जिसका एक सीधा साधा उदाहरण मैं ही हूँ।

आजकल सभी सरकारी परीक्षा या private परीक्षा में इंग्लिश एक अलग ही subject होता है चाहे आप bank के exam ले लो SSC के , Defence के , Medical , Non – Medical के। अगर आपकी इंग्लिश भाषा में अच्छी पकड़ है तो आप इन परीक्षाओं में अच्छे नंबर ला सकते हैं।

अगर आप कहीं नौकरी करने जाते हो और आपको इंग्लिश अच्छे से आती हो तो interviewer भी उन्हें ही महत्व देता है। आपको औरों के मुकाबले job लेना आसान हो जाता है। Company का ज्यादातर काम इंग्लिश में ही होता है तो।

अगर आप आज के time में इंग्लिश नहीं सिख पाते हैं तो आप समाज से कुछ हद तक पीछे हो जाते हैं। हाँ मैं ये मानता हूँ की मातृ भाषा बहुत जरूरी है पर इंग्लिश को भी अलग नहीं रखा जा सकता अगर आपने आगे बड़ना है।

आपकी की क्या राय है ? अगर है तो हमारे साथ साझा कीजिए। comment box में जरूर लिखिए।

इंग्लिश कैसे सीखें:

अगर आप सोच रहें हैं की इंग्लिश जरूरी तो पर इसे सीखे कैसे ? तो चलिए इसका उत्तर पढ़ने के लिए तैयार हो जाइए।

सबसे पहले आपको इंग्लिश पढ़ना आना चाहिए अगर पढ़ना आएगा तभी तो लिखोगे भी और बोलोगे भी।

मैं यह मान के चल रहा हूँ की आपको थोड़ा बहुत पढ़ना तो आता ही होगा भई मोबाइल , इंटरनेट , फेसबुक , व्हाट्सएप तो चलाते ही हो वहाँ भी थोड़ी बहुत इंग्लिश तो लिखी ही होती है ना।

तो पहला step:

आपको सबसे पहले ऐसी किताब खरीदनी है जिसमें इंग्लिश के अक्षर हिंदी भाषा में लिखे हों।

जैसे की : What is your name? — वट इज योअर नेम ?

What are you doing? — वट आर यू डूइंग ?

इससे आपको यह पता चलेगा की इंग्लिश वाले शब्दों को कैसे पढ़ा या बोला जाता है। इससे आपको इंग्लिश पढ़ना आसान लगेगा।

>> अगर आप पढ़ना सिखने लगें तो फिर यह देखिये की अक्षरों की spelling कैसे लिखी गई है।

>> हर रोज 2 से 3 बार जरूर पढ़ो।

>> फिर जो भी पढ़ना है उसे एक कॉपी में लिखना शुरू कीजिए। यह तब तक कीजिए जब तक किताब खत्म नहीं हो जाती। जल्दी नहीं करनी है।

>> यह करने से आपको पढ़ना और लिखना कुछ हद तक आ जाएगा।

>> यहाँ तक काम थोड़ा आसान था अब थोड़ा मुश्किल होगा पर आपको करना ही होगा।

तो अब आगे बढ़ते हैं :

1.सबसे पहले तो आप इंग्लिश पढ़ने की आदत डाल लीजिए। पर कैसे ?

>> हर रोज हो सके तो इंग्लिश अखबार जरूर पढ़िए जैसे की The Tribune , The Indian Express . ज्यादा ना पढ़े बस 2 से 3 article. जो आपके interest का हो।

>> आप कोई कहानियों की किताब खरीदो जो इंग्लिश में हो। इससे आपको पढ़ने में मजा भी आएगा और आप उबोगे भी नहीं (बोर नहीं होंगे)

>> magazine पढ़िए , जो भी आपकी पसंद की हो जैसे Sports, Entertainment , Cinema , Automobile आदि।

अगर आप ऊपर के सभी उपाय अपनी रोज की ज़िन्दगी में लाते हो तो आपकी रूचि खुद से खुद इंग्लिश पढ़ने में होने लगेगी।

इंग्लिश एक दम से नहीं सीखी जा सकती। हर किसी काम को पूरा करने के लिए समय तो जरूर लगता है। समय दीजिए सब कुछ होगा।

क्या इंग्लिश सिखने के लिए इंग्लिश ग्रामर सीखना जरूरी है ?

इस प्रश्न का उत्तर अलग अलग जगह पर अलग अलग है जैसे की :

अगर आप school या किसी government exam की तैयारी कर रहें है तो आपको इंग्लिश ग्रामर सीखना बहुत जरूरी है।

अगर आप सिर्फ बोलना पढ़ना चाहते हैं तो उसमे ग्रामर का ज्यादा उपयोग नहीं होता।

बोलने में तो खासकर।

तो ये तो आप पर निर्भर है की आप क्या कर रहे हैं।

इंग्लिश बोलने के लिए आपको सबसे ज्यादा जानकारी इंग्लिश के विभिन्न शब्दों की होनी चाहिए मतलब Vocabulary .

जितनी ज्यादा आपकी vocabulary होगी उतना ही आप अपने विचार प्रकट करने में समर्थ होंगे। (इंग्लिश भाषा में)

तो फिर Vocabulary कैसे बढ़ाएं ?

इसका उत्तर भी आपको ऊपर के पहरों में छिपा है। देखिए अब आप थोड़ा पढ़ने लग गए हैं और आपको पढ़ने में मजा भी आ रहा है। तो बस आपको एक काम करना है पढ़ते पढ़ते जो भी word आपको समझ में न आए या पता न चले की यह word किस चीज़ के लिए उपयोग हुआ है तो यहाँ आपको ध्यान देने की जरूरत है।

आपको वह word अपनी notebook पर लिखना है और उसका हिंदी में meaning देखना है चाहे dictionary पर देखो या मोबाइल पर, देखिये जरूर।और आपको वह भी notebook पर लिख लेना है।

आपको यह हर रोज करना है ज्यादा नहीं बस 10 – 10 word लिखिए आपका काम बनता जाएगा। तो अब एक गणित कीजिए :

अगर आप हर रोज 10 word लिखते हैं जो आपको नहीं पता हैं , तो आप देखिये आपके पास एक महीने में 300 word का भंडार होगा और एक साल में 3650 .

क्या इतने word कम है ? नहीं इतने word आपकी रोज की बोलचाल भाषा में प्रयोग होते हैं बल्कि इससे कम ही।

तो देखिए अगर रोज थोड़ा थोड़ा करके कितना बड़ा काम बन जाएगा। इससे आपको ये भी नहीं लगेगा की आप बहुत मेहनत कर रहे हो और फल भी आसानी से मिल जाएगा।

यह जो word आप रोज सीखेंगे इन्हें रोज पढ़िए और अपनी भाषा में प्रयोग कीजिए जैसे की अपने भाई बहन , माता पिता , अपने दोस्तों या फिर अपने आप से।

इससे आपको यह word याद भी रहेंगे और पता भी चल जाएगा की कहाँ उपयोग होंगे। यह सब करने से आपके अंदर confidence आएगा , जितना practice करोगे उतना ही फायदा है।

तो अब आपको कुछ महत्वपूर्ण apps बताते हैं जो की बिल्कुल free हैं , इनसे आपको थोड़ी और आसानी होगी।

1.Duolingo.

इंग्लिश कैसे सीखें। इसके लिए app
Duolingo: Learn English Free

यह app आपके लिए बहुत अच्छी है। इसमें इंग्लिश games के जरिये सिखाने की कोशिश की गई है। इसमें आप इंग्लिश भाषा की बोलने , पढ़ने सुनने और लिखने की practice कर सकते हैं।

यह एक free app है। अगर आपको इसे download करना है तो यहां जाइए।

2. Vocab 24 :

इंग्लिश कैसे सीखें ? इसके लिए app
Vocab 24 app

जब आप No.1 वाली app से कुछ सिख जाओगे तो फिर यह app आपके काम आएगी। इसमें आपको सब कुछ मिलेगा जो की आपको advance इंग्लिश सिखने में मदद करेगा जैसे की : Newspaper के articles , फिर उन articles से निकले कठिन words का हिंदी में अनुवाद , Synonyms and Antonyms , Fill in the blanks , रोज के tests और आप जब भी किसी word पर click करेंगे तो उसका अनुवाद उसी समय दिखाना आदि इसके महत्वपूर्ण features हैं। इसके अलावा आपको कुछ और download करने की जरूरत नहीं है।

इस app को download करने के लिए यहां click करें।

इन 2 app के अलावा आपको और app की जरूरत नहीं पड़ेगी।

Also Read :

GK के प्रश्न हिंदी में।

English grammar in Hindi

तो चलिए कुछ महत्वपूर्ण steps जान लीजिए जो की आपको इंग्लिश जल्दी सिखने में मदद करेंगे।

महत्वपूर्ण जानकारी:

1. हमेशा किसी न किसी की मदद लीजिए, चाहे आपके teacher हों , दोस्त हों , parents हों, या आपका मोबाइल फ़ोन हो।

2. गलती करने से मत डरो। खुद पर भरोसा रखो , और लोग गलतियाँ ही निकालेंगे।

3. कुछ ऐसा महौल बनाओ जिससे आप जब कभी बोले, सुने, लिखे या पढ़े सब इंग्लिश में ही हो।

4. आप हर रोज पढ़ने बोलने की practice करो , अपना एक study plan बनाओ , बस उसी study plan के अनुसार चलो।

5. अपने पास हमेशा एक dairy रखो , जो भी नए word सीखे हैं उन्हें देखते और पढ़ते रहो।

6. आप हर रोज कोई न कोई इंग्लिश का test जरूर दो चाहे online हो या offline . इससे आपको पता चलेगा की आपकी कमी क्या है।

7. अपने आप को थोड़ा time दीजिए , english सीखना 2 – 3 महीनों का खेल नहीं है। कम से कम 8 – 12 महीने तो दीजिए।

8. अपने लिए हर रोज goal set कीजिए, की आज मैं इतना तो करूंगा ही करूंगा।

9. यह जरूर जानिए की आपको क्या करने से आप ठीक से इंग्लिश सिख पा रहें हैं। अगर आपने यह पता कर लिया तो वही तरीका अपनाइए। उदाहरण के तौर पर : मुझे कहानियाँ पढ़ने का बड़ा शौक था तो मैं कहानियों की किताब पढ़ता था और वहीं से word भी लिखता था , पढ़ता भी था और वही कहानी औरों को इंग्लिश में सुनाने का प्रयास भी करता था।

10. पुनः विचार , पुनः विचार , पुनः विचार ! जो भी कुछ आपने पहले पढ़ा है उसे बार बार दोहराइए।

11. अगर हो सके तो छोटे बच्चों की इंग्लिश की किताबें पढ़िए। ये किताबें पढ़ने में आसान भी होती हैं और पढ़ने में मजा भी आता है।

12. हमेशा जब भी इंग्लिश पढ़ने बैठो तो dictionary या मोबाइल फ़ोन पर translating app अपने पास रखिए । जब कोई भी word समझ में न आए तो उसे तुरंत देखें और उसे और उसका हिंदी में अनुवाद notebook पर जरूर लिखे।

13. आप हर रोज अपने बोल -चाल में इंग्लिश का प्रयोग करें। इससे आपको बोलने में भी confidence आएगा।

14. कभी ये मत समझिए की मुझसे नहीं होगा , अगर आपने ये सोचा तो आप हार जाएंगे। अगर आप इस पड़ाव को पार कर लेते हैं तो आप जरूर इंग्लिश सिख जाएँगे।

15. किसी भी topic पर खुद लिखने की practice कीजिए , चाहे कैसा भी हो टूटा – फूटा , मगर लिखिए जरूर।

16. अगर आप गाने सुनने या फिल्म देखने के शौकीन हैं तो हो सके Hollywood फिल्म और english गाने सुने। इससे आपकी listening power बड़ेगी और आप यह भी समझेंगे की आपस में बात कैसे होती है formal तरीके से।

17. इंग्लिश सीखना आपके खुद के ऊपर निर्भर करता है , यह आपको कोई सीखा नहीं सकता , हाँ यह जरूर है की कैसे सीखनी है, क्या उपाय हैं , मेहनत तो आपको ही करनी होगी।अगर आप ही मेहनत के लिए तैयार नहीं हैं तो अपना समय व्यर्थ मत कीजिए। इसमें समय लगता है।

अगर आप ऊपर के सभी उपायों को करने में सफल होते हैं तो आपको इंग्लिश सिखने से कोई नहीं रोक सकता आप खुद भी नहीं।

अब मेरी तरफ से एक bonus idea ::

यह तरीका मैंने खुद इस्तेमाल किया है। इस तरीके से मुझे काफी फायदा हुआ तो यह तो आपको बताना बनता ही है :

तरीका :

आप जब भी कुछ अपने मन में सोचें तो क्यों न आप इंग्लिश भाषा में सोचना शुरू कर दे। इससे आपको किसी के आगे बोलना भी नहीं पड़ेगा और आपका काम भी बन जाएगा। धीरे – धीरे जब आप इंग्लिश में सोचना शुरू कर देंगे तो आपकी इंग्लिश में बोलने की क्षमता और आपका बोलने का confidence भी बढ़ेगा। बस जो भी सोचे वह इंग्लिश में सोचने का प्रयास करे। यह तरीका मैंने खुद अजमाया है यकीन मानिए मुझे इससे बहुत फ़ायदा हुआ है और आपको भी जरूर होगा।

मैं तो आपको बस इतने से नियम बता सकता हूँ जो की मैंने भी follow किए हैं। पर यक़ीन मानिये अगर आप ऊपर के नियमों का पालन करते हैं तो आपको इंग्लिश सिखने से कोई नहीं रोक सकता।

मैं तो आपकी इतनी ही मदद कर सकता हूँ अब मेहनत आपको ही करनी है। अगर आप मेरे तरीकों से सहमत हैं तो जरूर अपने विचार comment box में लिखिए।

धन्यवाद।

अगर आपको हिंदी में Noun जानना है की क्या होता है कैसे use होता है तो यहाँ जाइए।

Leave a Reply