Best Romantic stories in Hindi, Hindi short love story

Best Romantic stories in Hindi, Hindi short love story

दोस्तों चलिए आज आपको कुछ बेहतरीन romantic stories in Hindi में बताते हैं, आप इन Hindi Short Love Story को पढ़ कर romance की दुनिया में गुम हो जाएंगे।

तो चलिए शुरू करते हैं romantic stories in hindi में :

हमारी पहली कहानी है :

बारिश में एक सुनहरी कलि :

मूसलाधार बारिश हो रही थी , और वो कमरे में बैठा जल थल देख रहा था। बाहर बहुत बड़ा लॉन था। जिसमें बहुत से सुंदर – सुंदर फूल लगे हुए थे। बड़े बड़े पेड़ भी थे उनके सभी पत्ते बारिश में नहा रहे थे।

उसको ऐसा मह्सूस हुआ की वो पानी की इस बारिश से खुश हो कर नाच रहे हैं। बादल जोर जोर से गरज रहे थे। उनकी आवाज़ उसे ऐसी लग रही थी कोई उसे जोर जोर से पुकार रहा है।

Romantic stories in Hindi, Hindi short love story

वहीं पर एक टेलीफोन का खंबा गढ़ा हुआ था जो उसके फ्लैट के ठीक सामने था, वह भी उसे खुश नज़र आ रहा था। हालांकि उसकी खुशी की कोई वजह उसको मालुम नहीं थी। उस बेजान चीज़ को वो भला क्या खुशी हो सकती है।

लेकिन तनवीर ने , जो बहुत गम में घिरा हुआ था , यही मह्सूस किया की उसके आस पास जो भी चीज़ है खूशी में नाच गा रही है।

सावन गुजर चूका था। मगर बारिश नहीं हो रही थी। लोगो ने मस्जिदों में इकठे होकर दुआएं मांग रहे थे , मगर कोई नतीजा नहीं निकल रहा था। बादल आते जाते रहे मगर उनके थनो से एक कतरा नीचे न गिरा।

आखिर एक दिन काले काले बादल आसमान पर घिर आए। और जोर जोर पानी बरसने लगा। तनवीर को बादलों और बारिश से कोई दिलचस्पी नहीं थी। उसकी जिंदगी एक जटिल मैदान बन चुकी थी। जिसके मुँह में पानी एक कतरा भी किसी न टपकाया हो।

दो साल पहले , उसने एक लड़की से प्यार किया था जिसका नाम कोमल था , मगर वह प्यार एक तरफा था। कोमल ने उसे ध्यान देने लायक भी न समझा।

सावन के दिन थे , बारिश हो रही थी , वह अपनी कोठी से बाहर निकला ,लंगोट पहनकर बारिश में नहाने लगा और बारिश के मज़े लिए।

आम बाल्टी में पड़े हुए थे ,वह अकेला बैठा उन्हें चूसने लगा परन्तु अचानक उसे चीखने और बहकने की आवाज़े सुनाई देने लगी। उसने देखा की साथ वाली कोठी के लॉन में दो लड़कियां बारिश में नहा रही हैं और खुशी में शोर मचा रही हैं। उसकी कोठी और साथ वाली कोठी के दरमयान सिर्फ झाड़ियों की एक दिवार लगी थी।

तनवीर उठा, आम का रस चूसते हुए वो बाड़े के पास गया और गौर से उन दोनों लड़कियों को देखने लगा। दोनों महीन मलमल की कुर्ते पहने थी जो उनके बदन के साथ चिपके हुए थे। सलवारें भी बिलकुल भीग सी गई थी।

उसने पहले किसी औरत को ऐसी नजरों से कभी नहीं देखा था जैसा की उस रोज !जबकि बारिश हो रही थी , तब भी उनको देर तक देखता रहा जो बारिश में भीग भीग कर खुशी की आवाज़े बुलंद कर रहीं थी।

Romantic stories in Hindi, Hindi short love story :

तनवीर ने उनको पहले कभी नहीं देखा था इसलिए की वह मिजाज से कुछ इस किस्म का लड़का था की वो किसी लड़की को बुरी नजर से देखना गुनाह समझता था। मगर उस दिन उसने बड़ी ललचाहि निगाहों से उनको देखा। देखा ही नहीं , बल्कि उनके गीले बदन में अंगार बन कर छेद करता रहा।

तनवीर की उम्र उस समय 20 साल के करीब होगी , न तजुर्बेकार था , ज़िंदगी में उसने पहली बार जवान लड़कियों की शबाब को गीली मलमल में लिपटे देखा , तो उसे यह महसूस हुआ की उसके खून में चिंगारी दौड़ रही है। उसने उन दोनों लड़कियों में से एक को चुनना चाहा। देर तक वह गौर करता रहा। एक लड़की बड़ी चंचल थी दूसरी उससे कम।

तो उसने सोचा चंचल अच्छी रहेगी जो उसे भी चंचल बना दे। ये चंचल लड़की खूबसूरत थी। उसके शरीर के अंग भी बहुत खूबसूरत और मुनासिफ थे। बारिश में नहाती जल परी मालुम होती थी।

थोड़ी देर के लिए तनवीर सायर बन गया। उसने कभी इस तरह नहीं सोचा था। लेकिन उस लड़की ने उसे ऐसे ऐसे शेयर याद करा दिए जिनको वह काफी वक़्त पहले भूल चूका था।

इसके अलावा रेडियो पर सुने फ़िल्मी गाने की धुनें भी उसके कानों में गूंज रही थी। उसने बाड़े के पीछे ऐसा महसूस करना शुरू किया की वो अशोक कुमार , दिलीप कुमार है। फिर उसे कामिनी कौशल और नलिनी जीवंत का ख्याल आया मगर उसने जब उस लड़की की तरफ गौर से देखा की उसमें कामिनी कौशल , नलिनी जीवंत के अंग प्रति अंग नजर आ जाएं , तो उसने इन दोनों एक्ट्रेस पर लानत भेजी।

वो उनसे कहीं ज्यादा हसीन थी। उसके मलमल के कुर्ते में जो सवाब था उसका मुकाबला उसने सोचा की कोई भी नहीं कर सकता।

तनवीर ने आम चूसने बंद कर दिए। और उस लड़की से जिसका नाम परवीन था , इश्क लड़ाना शुरू कर दिया। शुरू शुरू में उसे बड़ी मुश्किलें पेश आयी। इसलिए की उस लड़की तक पहुंचना तनवीर को आसान नहीं मालूम होता था। फिर उसे अपने माँ बाप का भी डर था। इसके अलावा उसे यह भी यकीन नहीं था की उसे वो चाहत महसूस हुई है की नहीं जो तनवीर को हुई थी।

बहुत दिनों तक वह इन्ही उलझनों में घिरता रहा। रातों जागता , उसकी कोठी की तरफ झांकता पर उसे वह नज़र नहीं आती। घंटो वहां खड़ा रहता। और वो बारिश वाला नजारा जो उसने देखा था आँखें बंद करके अपने मन में दोहराता रहता।

बहुत दिनों बाद , आखिर उसको एक दिन उससे मुलाक़ात करने का मौका मिल गया। वो अपने पिता की कार में घर के किसी काम से जा रहा था, की परवीन से उसकी मुलाक़ात हो गयी।

वो कार स्टार्ट कर चूका था की साथ वाली कोठी में से तनवीर के सपनों की शहजादी निकली। उसने हाथ से इशारा किया की वो मोटर रोक ले।

तनवीर घबरा गया। (हर आशिक ऐसे मौकों पर घबराये से जाते हैं ).

उसने मोटर कुछ ऐसे अंदाज में रोकी की उसको जबरदस्त धक्का लगा। उसका सर जोर से स्टीयरिंग पर टकराया। मगर उस वक़्त , वो शराब के नशे से भी ज्यादा शुरुर में था। उसको उसकी महबूबा ने खुद जो बुलाया था।

परवीन के होठों पर गहरे रंग लिपस्टिक थुपी हुई थी। उसने सुर्ख़ मुस्कुराहट से कहा : मैंने आपको तकलीफ दी , बारिश हो रही है न , तांगा इस दूर दराज जगह मिलना मुश्किल है और मुझे एक जरूरी काम से जाना है। आप मेरे पड़ोसी हैं , इसलिए आपको यह तकलीफ दी।

तनवीर : तकलीफ का क्या सवाल पैदा होता है। मैं तो , मैं तो (उसकी जबान लड़खड़ाई ) , आपसे पहले मिला नहीं हूँ लेकिन आपको एक बार देखा था।

परवीन अपनी सुर्ख़ मुस्कुराहट के साथ कार में बैठ गयी और तनवीर से पूछा : आपने मुझे कब देखा था।

तनवीर : आपकी कोठी के लॉन में जब आप और आपके साथ एक और लड़की बारिश में नहा रही थी।

हाय !!! आप देख रहे थे।

तनवीर : ये गुस्ताखी मैंने जरूर की है , इसके लिए माफ़ी चाहता हूँ !

आपने देखा क्या था। ( एक सवाल ऐसा था की तनवीर उसका जवाब नहीं दे सकता था )

आएं – बाएं – सायें करके उसने बात मोड़ दी। जी कुछ नहीं , बस आपको , दोनों लड़कियां जो बारिश में नहा रही थी और खुश हो रही थी मै उस वक़्त आम चूस रहा था।

आप आम चुस्ते क्यों है ? काट कर क्यों नहीं खाते।

तनवीर ने मोटर स्टार्ट की , उसकी समझ में न आया की इस सवाल का क्या जवाब दिया जाए।

वह बात गोल कर गया और बोला : आपको मैं कहाँ ड्राप कर दूँ ?

आप मुझे कहीं भी ड्राप कर दे , वही मेरी मंजिल होगी। (तनवीर ने यूँ महसूस किया की उसे अपनी मंजिल मिल गयी है, लड़की जो उसके करीब बैठी है अब उसी की है, लेकिन उसमे इतनी हिम्मत नहीं थी की उसका हाथ दबाये या उसकी कमर एक दो सेकंड के लिया बाजू डाल दे )

बारिश हो रही थी , मौसम बहुत खुशनुमा था। उसने काफी देर सोचा , मोटर की रफ्तार उसके ख्यालात के अनुसार तेज होती गई। आखिर उसने एक जगह उसे रोक लिया और एहसासों में बहकर उसको अपने साथ सिमटा लिया। उसके होठों पर अपने होंठ रख दिए उसको ऐसा मह्सूस हुआ की वो कोई बहुत ही लजीज आम चुस रहा है।

परवीन ने भी उसे नहीं रोका लेकिन जल्दी ही तनवीर को ऐसा एहसास हुआ की उसने बड़ी अश्लील हरकत की है और शायद परवीन को उसकी यह हरकत पसंद नहीं आयी है।

उसने एक दम संजीदा हो कर कहा : आपको कहां जाना है। (परवीन के चेहरे पर यूँ तो नराजगी के आसार नहीं थे लेकिन तनवीर यूँ महसूस कर रहा था जैसे वह उसके खून की प्यासी है )

परवीन ने उसे बता दिया की उसे कहाँ जाना है।

जब वह उस जगह पहुँचा तो मालूम हुआ की वह वैश्यों का अड्डा है। जब उसने परवीन को मोटर से उतारा तो उसके होठों पर गहरे लाल रंग की मुश्कुराहट बिखर रही थी। उसने कूल्हे मटकाकर ठीक वैश्यों के अंदाज में कहा : शाम को मैं रोज यहाँ होती हूँ आप कभी जरूर तसरीफ रखिए।

तनवीर जब भोचक्का हो कर अपनी मोटर की तरफ बड़ा , तो उसे ऐसा लगा की वो भी एक वैश्य है। जिसे वह हर रोज चलाता है। उसकी लाल लिपस्टिक जो परवीन के होठों पर थुपी हुई थी उसे रगड़ रगड़ कर हटाया।

वह वापिस अपनी कोठी चला आया। बारिश हो रही थी वह बहुत गम से भरा हुआ था उसको ऐसा महसूस हुआ की उसके आँखों के आंसू बारिश के कतरे बन कर टपक रहे हैं।

अगली Romantic stories in Hindi, Hindi short love story आपको बहुत दुखी कर देगी यह एक सच्चे प्यार की प्रेम कथा है :::

Romantic stories in Hindi, Hindi short love story:

हमारी दूसरी romantic कहानी :

गरीब की प्यार की कहानी

एक लड़का एक लड़की से बहुत प्यार करता था। दोनों की जाती अलग अलग थी। लड़का हर बार लड़की से पूछता था की तुम मुझसे शादी करोगी।

लड़की बोलती थी कैसे मेरे माँ बाप राजी नहीं होंगे और मैं भाग कर शादी नहीं करूंगी।

लड़का बोला : जब मैं अपने पैरों पर खड़ा हो जाऊंगा तब मैं तुम्हारा हाथ मांगने आऊंगा।

लड़की कहती है : शादी से क्या होता है , अगर शादी नहीं हुई तो क्या तुम्हारे दिल में मेरे लिए प्यार खत्म हो जाएगा क्या।

लड़का सोच में पड़ जाता है। मगर वह हंस के बोलता है की तुम मुझे भूल जाओगी।

लड़की कहती है : ऐसा कभी नहीं होगा।

वक़्त बीतता गया !!!!!!!!!

लड़के ने कुछ ऐसा काम जान भुझ कर करने लगा जिससे वह लड़की उससे नफरत करने लगे।

लड़के ने उस लड़की बहन से एक दिन कहा जो मैं बोलता हूँ इसे तुम रिकॉर्ड कर लो और जब तुम्हारी दीदी की शादी हो जाए तो उसे सुना देना।

जैसा लड़के ने सोचा था वैसा ही हुआ। लड़की उससे सबसे ज्यादा नफरत करने लगी क्यूंकि लड़का उसका विश्वास जान भुझ कर तोड़ता था।

लड़की की शादी तय हो गयी। उसकी शादी धूम धाम से हुई।

Romantic stories in Hindi, Hindi short love story

लड़की बहुत खुस थी। शादी के एक महीने बाद जब वह मायके पहुंची तो उसकी बहन ने कहा मेरे मोबाइल में आपके लिए कुछ है क्या आप सुनोगी।

लड़की ने हँसते हुए कहा हाँ क्यों नहीं जरा सुनाओ।

तो वह सुनने लगी :

लड़के की आवाज़ : ये सच है मैं तुम्हारे बिना अपनी जिंदगी की कल्पना भी नहीं कर सकता। मुझे पता है आज तुम सबसे ज्यादा तुम मुझसे नफरत करती हो लेकिन मैं तुम्हे कुछ महीने का दर्द दे कर तुम्हें पूरी जिंदगी खुश देखना चाहता था।

Romantic stories in Hindi, Hindi short love story:

मुझे खुशी है , तुम खुश हो मुझे भूलकर मैं यही चाहता था की तुम मेरे लिए पूरी जिंदगी मेरी याद में न गुजार दो। मैंने तुमसे जो भी बतमीजी की थी उसके लिए दिल से माफ़ी मांगता हूँ।

मैं नहीं चाहता था की तुम अपने माँ बाप की नजरों में निचे गिर जाती मुझसे शादी कर के। तुम अपनी जिंदगी हँसते हुए गुजारना मेरी परवाह किये बिना। मैं तुमसे अभी भी पहले जितना ही प्यार करता हूँ और करता रहूंगा।

लड़की की आँखों से आंसू निकलने लगे। वह अपनी छोटी बहन को बोली की तुमने ऐसा क्यों किया। पहले क्यों नहीं बताया।

वह बेचारी छोटी क्या कर सकती थी उसे उस लड़के ने कसम जो डाल रखी थी की तुम यह उसे शादी के बाद ही बताना।

लड़की अपनी छोटी बहन से बोली अगर तुम मेरी बहन हो तो उसे जल्दी फ़ोन लगा दो। छोटी ने अपनी दीदी की बात मान ली और फ़ोन लगाया।

फ़ोन लड़के की माँ ने उठाया : हेलो कौन ? मुझे सुनील से बात करा दीजिए ?

लड़के की माँ कहती है रोते हुए : किस से ! सुनील से ?

लड़की कहती है हाँ सुनील से।

लड़के की माँ कहती है : मेरा बेटा तो इस दुनिया में न रहा। उसने तो आत्महत्या कर ली।

लड़की रोते हुए कहती यह कैसे हो गया।

उसकी माँ बोली : वह बस यही बोलता रहता था की गरीब का प्यार और उसके सपनों की कोई औकात नहीं होती। पतानही ऐसा कैसा काम उसने जिंदगी में किया होगा जिसने उससे ऐसा करा दिया।

यह सब कब हुआ।

माँ बोली 18 मार्च को।

लड़की अचानक गिर पड़ी क्यूंकि 18 मार्च को ही उसकी शादी हुई थी।

Romantic stories in Hindi, Hindi short love story:

हमारी तीसरी रोमांटिक कहानी :

प्यार एक सज़ा

एक लड़की जो बहुत खूबसूरत थी। वह ईमानदार भी बहुत थी वह न किसी से झूठ बोलती थी न फालतू की बातें करती थी। बस अपने काम से काम रखती थी।

वह स्कूल में पढ़ती थी। उसकी क्लास में बहुत से लड़के भी पढ़ते थे। पर उन सब लड़कों में से एक लड़का उससे बहुत प्यार करता था। वह कभी भी उस से यह जाहिर नहीं कर पाता था।

वह कभी – कभी उस लड़की के कुछ छोटे – मोटे काम अक्सर कर देता था। बदले में वह लड़की उसे मुस्कुरा कर thanks बोल देती थी। बस इसी thanks के लिए वह उसके सभी काम कर देता था यह सुनकर उसकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहता था।

एक बार की बात है :

दोनों साथ साथ स्कूल से घर जा रहे थे। तभी चलते – चलते बड़ी जोर से बारिश होने लगी और दोनों एक पेड़ के निचे खड़े हो गए कहीं भीग न जाएं।

पर लड़की ने बारिश का आनद उठाने के लिए बारिश में भीगना चाहा और वह बारिश में भीगने लगी। लेकिन लड़के ने उसे बुला लिया की आ जाओ कहीं सर्दी न लग जाए। उसने उस लड़के का कहना मान लिया। और उसके पास आकर खड़ी हो गई। लड़का ने उसे अपनी जैकेट दे दी जिससे उसे सर्दी न लग जाए। इसी तरह वह आपस में करीब आ गए।

लड़की को इतना करीब पा कर लड़का अपने जज्बातों को काबू में न रख सका। वह लड़की को प्रोपोज करने की सोचने लगा। पर वह मन ही मन डर भी रहा था की कहीं यह मुझे मना ही न कर दे।

पर जैसे तैसे उसने अपनी हिम्मत बड़ाई और लड़की को प्रपोज कर ही दिया।

(लड़की भी मन ही मन उसे चाहती थी )

पहले तो वह सहम गई की यह तुम क्या कह रहे हो अचानक से तुमने मुझे ऐसे प्रपोज कर दिया। (लड़की मजाक कर रही थी )

लड़का तो डर ही गया अरे यह तो गलती हो गई अब तो यह नहीं मानेगी। लेकिन लड़की ने थोड़ी देर उसे हाँ कह दिया।

Romantic stories in Hindi, Hindi short love story

लड़का अपना होश न संभाल पाया।

और इसके बाद दोनों का प्यार फरमान चढ़ने लगा।

Romantic stories in Hindi, Hindi short love story पढ़ते रहिए :

एक बार की बात है वह लड़की उसी पेड़ के निचे उस लड़के का इन्तजार कर रही थी। पर वह लड़का अभी तक नहीं आया था।

पर थोड़ी देर बाद लड़का वहां पहुंच ही गया। तो उसे देखकर लड़की बोली : तुम इतनी देर से क्यों आए ? मेरी तो जान तो निकल ही गयी थी।

यह सब सुनकर वह लड़का बोला : जानेमन मैं कहाँ तुमसे दूर गया था मैं तो तुम्हारे दिल में ही तो रहता हूँ। तुम्हे यकीन नहीं तो अपने दिल से ही पूछ लो।

लड़के की इस बात से लड़की अपना सारा गुस्सा भूल गयी और उससे लिपट गई।

एक दिन दोनों उसी पेड़ के निचे बैठे हुए थे। लड़की पेड़ के सहारे बैठी हुई थी और लड़का अपना सर उसकी गोद में रख कर लेटा हुआ था।

तभी लड़की बोली : अब मुझसे तुम्हारी जुदाई बर्दास्त नहीं होती मुझे एक दिन तुमसे अलग होना सौ साल के बराबर लगता है। तुम मुझसे ही शादी करना नहीं मैं मर जाउंगी।

लड़के ने झट से लड़की के मुँह पर हाथ रख दिया और बोला “मेरी जान , ऐसा क्यों कह रही हो अगर तुम्हे कुछ हो गया तो मैं कैसे जिन्दा रहूंगा।

फिर वह सोचता हुआ बोला अरे तुम चिंता मत करो मैं अपने घर वालों से बात करूंगा।

धीरे – धीरे समय बीतता गया।

एक दिन की बात है दोनों दोबारा उसी पेड़ के निचे बैठे हुए थे। उस समय पर लड़के का चेहरा उतरा हुआ था और बोला : जानेमन मैंनेअपने घरवालों को बहुत समझाया पर वह हमारी शादी कराने के लिए तैयार न हुए। उन्होंने तो मेरी शादी कहीं और तय कर दी है।

यह सुन कर लड़की का दिल टूट गया। उसका मन जोर जोर से रोने का हुआ पर उसने अपने जज्बातों पर काबू पा लिया और कहने लगी : मैंने तो तुमसे सच्चा प्यार किया है मैं तो तुम्हे कभी भी नहीं भूल सकती।

लड़का बोला : प्लीज मुझे माफ़ कर देना वैसे अगर तुम चाहो तो हम हमेशा एक अछे दोस्त रह सकते हैं।

लड़की यह सुनकर जोर जोर से रोने लगी।

लड़के ने उसे बहुत समझाया और फिर दोनों रोते हुए अपने – अपने घर चले गए।

देखते ही देखते लड़के की शादी का दिन भी आ गया। उसको यकीन था उसकी दोस्त भी उसकी शादी में जरूर आएगी।

पर ऐसा कुछ न हुआ पर लड़की का भेजा हुआ गिफ्ट उसे जरूर मिल गया। उसने उसे देखा तो उसके होश उड़ गए।

गिफ्ट पैक में कुछ नहीं खून से लतफत लड़की का दिल पड़ा हुआ था। और साथ में एक चिठ्ठी थी।

उस चिठ्ठी में लिखा था ” अपना दिल लेते जा वरना अपनी पत्नी को क्या देगा। “

दोस्तों ” किसी के लिए प्यार तो टाइम पास होता है पर किसी के लिए जिंदगी से बढ़कर ” अगर किसी से प्यार करना तो पूरी उम्र निभाना वरना क्या पता आपका हाल भी कैसा हो जाए “

दोस्तों हमने आपको बेहतरीन Romantic stories in Hindi, Hindi short love story बताई। आशा करते हैं आपको यह hindi romantic stories बहुत पसंद आई होंगी इन्हे पढ़ कर आपके मन में भी प्यार की लहर दौड़ रही होगी।

हम तो दोस्तों आपसे यही गुजारिश करते हैं अगर आपको भी किसी से प्रेम है तो आप उसे अच्छे से निभाइये कभी किसी के साथ जबरदस्ती मत कीजिए।

प्रेम जबरदस्ती करने से नहीं होता यह अपने आप खुद पे खुद हो जाता है।

हो सके तो आप हमारी बात पर गौर कीजिए।

आपका धन्यवाद

हमारे पोस्ट पर आने का।

Leave a Reply